IPS Aslam Khan Success Story : कृष्ण भक्त IPS असलम खान की प्रेरणादायक कहानी, गरीबी में पलकर हासिल की बड़ी सफलता

IPS Aslam Khan Success Story : इस महिला पुलिस अधिकारी का नाम IPS असलम खान है जो हमेशा मदद के लिए हाथ आगे बढ़ाते हैं। अब आप कहते हैं महिला अफसर और नाम है असलम तो इस नाम के पीछे की कहानी भी उतनी ही दिलचस्प है।

IPS Aslam Khan Success Story :जयपुर में एक छात्रा भगवान कृष्ण के दर्शन से इतनी प्रभावित हुई कि वह उनकी भक्त बन गई। इस लड़के ने आगे बढ़कर हर क्षेत्र में सफलता के परचम लहराए। विपरीत परिस्थितियों पर काबू पाया, देश की सबसे कठिन परीक्षा पास की और बने आईपीएस। ऐसा करते हुए भी सामाजिक चेतना को बचने नहीं दिया।

ALSO READ THIS :  CM Yogi Helpline Number : निकाह से पहले इस मुस्लिम लडकी को सीएम योगी ने दिया बड़ा तोहफा, हर कोई कर रहा तारीफ

इस महिला पुलिस अधिकारी का नाम आईपीएस असलम खान है, जो हमेशा मदद के लिए हाथ आगे बढ़ाती हैं। अब आप कहते हैं, महिला अधिकारी और नाम असलम है। तो इस नाम के पीछे की कहानी भी उतनी ही दिलचस्प है।

आज हम असलम खान के जीवन के बारे में जानने जा रहे हैं। असलम खान की पहचान एक सच्चे और ईमानदार अधिकारी के रूप में होती है। वह फिलहाल गोवा में काम कर रही हैं। असलम नाम का अर्थ है सुरक्षा, जिसे असलम खान सही मायने में जीते हैं।

असलम खान नाम के पीछे की दिलचस्प कहानी

कैसा है असलम खान का यह नाम? बहुत से लोग यह सवाल पूछ रहे होंगे। इसके पीछे एक छोटी सी कहानी है। उनके पिता एक बच्चे की उम्मीद कर रहे थे। लेकिन उनकी एक बेटी थी। बच्चे के जन्म से पहले ही पिता ने बच्चे का नाम सोच लिया था। लेकिन यह एक लड़की थी और उसका नाम असलम रखा गया। लेकिन उनके पिता ने उन्हें पालने में कोई कसर नहीं छोड़ी। उन्हें अच्छी शिक्षा दी। इसके चलते असलम खान 2007 में आईपीएस अधिकारी बन गए।

ALSO READ THIS :  Indian Railway Platform Ticket New Price: रेलवे ने जनता को राहत देते हुए किया बड़ा एलान, पढिये पूरी खबर

असलम खान 2007 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं। एक दबंग पुलिस अधिकारी के रूप में उनकी प्रतिष्ठा है। असलम खान का बचपन गरीबी में बीता। उनके पिता के पास कभी इतने पैसे नहीं थे कि वह उन्हें उनके जन्मदिन पर चॉकलेट भी खिला सकें।

असलम खान फिलहाल गोवा में डीआईजीपी के पद पर कार्यरत हैं

असलम खान फिलहाल गोवा में डीआईजीपी के पद पर कार्यरत हैं। उन्होंने पुलिस उपायुक्त, उत्तर पश्चिम जिला, दिल्ली का पद भी संभाला है। वह लोगों को सुरक्षित रखने का बहुत अच्छा काम कर रही हैं। असलम के पति पंकज कुमार सिंह 2008 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं।

ALSO READ THIS :  GAUTAM ADANI : सदन में राहुल गांधी द्वारा गौतम अडानी की तस्वीर दिखाए जाने पर लोकसभा अध्यक्ष नाराज

कुछ रिपोर्ट्स के मुताबिक असलम खान अपनी आधी तनख्वाह अंतरराष्ट्रीय सीमा पर स्थित गांव सुचेतगढ़ के एक परिवार को भेजते हैं. वे घरवालों को भी फोन कर पूछते हैं। हुआ यूं कि 9 जनवरी 2018 को जम्मू के ट्रैक ड्राइवर मानसिंह की दिल्ली के जहांगीरपुरी में उस इलाके में हत्या कर दी गई, जहां वह काम कर रहा था. 5 सदस्यों के परिवार में मान सिंह अकेला कमाने वाला था। जब असलम को इस बात का पता चला तो उसने मानसिंह के परिवार का साथ दिया।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,704FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles