Jim Corbett National Park
Jim Corbett National Park

Jim Corbett National Park: उत्तर प्रदेश में जल्द ही न्यू जिम कार्बेट (New Jim Corbett) विकसित किया जा सकता है. एक हाई लेवल मीटिंग में इसको लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ ने बड़ा फैसला लेते हुए अधिकारियों को निर्देश दिए हैं.

Jim Corbett National Park: वन्य जीवों के संरक्षण के लिए उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) सरकार अब एक बड़ा कदम उठाने जा रही है. इसके लिए जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क (Jim Corbett National Park) से जुड़े उत्तर प्रदेश के हिस्से को विकसित करने की योगी सरकार की योजना है. योगी सरकार उन इलाकों को संरक्षित करने के लिए एक बड़ा अभियान चलाने जा रही है, जहां बाघों का आवागमन होता है.

इस इलाके को ‘न्यू जिम कार्बेट’ नाम देने पर भी योगी सरकार विचार क्र रही है. इसका उद्देश्य स्थानीय स्तर पर विचरण वाली वन्यजीव आबादी को सुरक्षित आश्रयस्थल देना है. इसके अलावा अपनी तरह के अनोखे वन क्षेत्र का संरक्षण करना भी है. इस संबंध में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने एक उच्च स्तरीय बैठक में अधिकारीयों को निर्देश दिया है. जल्द ही इस पर कैबिनेट की मुहर भी लग जाने की आशा है.

ALSO READ THIS :  Arrest warrant against Deepak Chaurasia : जारी हुआ दीपक चौरसिया का गिरफ़्तारी वॉरंट, कोर्ट ने ख़ारिज की ‘मेडिकल समस्याओं’ वाली दलील

यूपी के अमानगढ़ में बनेगा ‘न्यू जिम कार्बेट

आपको बता दें कि बिजनौर के अमानगढ़ में लगभग 80 वर्ग किलोमीटर में फैले इस जंगल को टाइगर सफारी बनाया जाएगा. यही जंगल उत्तराखंड के जिम कार्बेट (Jim Corbett National Park) जंगल से जुड़ा हुआ है. साथ ही इसको इको और गंगा टूरिज्म से जोड़ा जाएगा. इसके अतिरिक्त यहां पर पर्यटकों के लिए विश्व पर्यटन स्थल की सुविधाएं भी उपलब्ध करवाई जाएंगी. इससे स्थानीय स्तर पर लोगों को रोजगार के नए अवसर भी उपलब्ध हो सकेंगे और इस इलाके का समग्र विकास भी हो पायेगा.

उत्तर प्रदेश में हैं कुल 173 बाघ

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश में बाघों की कुल संख्या 173 है. जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क (Jim Corbett National Park) का हिस्सा होने के कारण इस वन क्षेत्र में काफी संख्या में बाघ मौजूद हैं. यहां आने वाले पर्यटकों को टाइगर सफारी के साथ कई प्रकार के पक्षियों, वनस्पतियों, नदियों, झरनों, वादियों और पहाड़ों का भी आनंद मिलेगा. इसके अतिरिक्त पर्यटक नजदीक से तेंदुआ, बाघ और हिरण को देख भी सकेंगे.

ALSO READ THIS :  Earthquake in Uttarakhand: उत्तराखंड में महसूस किये गये भूकंप के तेज झटके, नेपाल में मकान गिरने से 6 लोगों की मौत

पर्यटक लेंगे जंगल सफारी का आनंद

जंगल सफारी के अतिरिक्त इस इलाके में हाथी की सवारी, कैम्पिंग, ट्रैकिंग जैसी एक्टिविटीज का भी आनंद लिया जा सकेगा. हाथी की सवारी के लिए महावत की समुचित व्यवस्था की जाएगी. वहीं, कैम्पिंग और ट्रैकिंग के लिए भी अच्छे ट्रेनर रखे जाएंगे. इससे पर्यटक पूरी सुरक्षा के साथ-साथ अपनी ट्रिप का लुत्फ उठा सकेंगे.

पर्यटकों को रुकने के लिए भी यहां अच्छी व्यवस्थाएं रहेंगी. अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त सरकारी विश्राम स्थल के साथ यहाँ प्राइवेट होटल्स भी खोले जाएंगे. इसके अलावा रिजॉर्ट और खाने-पीने के लिए कैंटीन की सुविधा भी सरकार द्वारा उपलब्ध करवाई जाएगी..

ALSO READ THIS :  Gujarat Assembly Election 2022 BJP Candidates List: गुजरात चुनाव के लिए BJP ने जारी की प्र्ताशियों की पहली सूची

उल्लेखनीय है कि यूपी में दुधवा, पीलीभीत और अमानगढ़ के बाद राज्य में चित्रकूट के रानीपुर को चौथा टाइगर रिजर्व (Jim Corbett National Park) घोषित किया गया है. रानीपुर वाइल्ड सेंचुरी को केंद्र सरकार ने देश के 53वें टाइगर रिजर्व का स्थान दिया है. इसे केंद्रीय पर्यावरण और जलवायु परिवर्तन मंत्री भूपेंद्र यादव ने बाघ संरक्षण की दिशा में एक बड़ा और सार्थक पहल करार दिया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here